Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Lyrics (हिंदी & English) – Keshav Trivedi

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Lyrics: Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar is Krishna Bhajan sung by Keshav Trivedi. Khatu Ji Mein Baba ji Ko Dekh Kar music composed by Bhavesh Soni. Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Lyrics Written by Keshav Trivedi.

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Song Credits

Song: Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar
Singer: Keshav Trivedi
Music: Bhavesh Soni
Lyrics: Keshav Trivedi
Label: Yuki Music
Genre: Bhajan Lyrics

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Lyrics in Hindi

खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं

खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं

झोली सबकी भरते मेरे बाबा जी
सबके संकट पल भर में हर जाते हैं

खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं

कभी जो ख्वाब देखा तो
मिले बाबाजी मुझको तो
मुझे दर्शन की ख्वाहिश थी
मिले दर्शन भी मुझको तो

हर तरफ खुशियां ही खुशियां हैं
श्याम बाबा के दर पे आने से

खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं

मेरे हालात ऐसे हैं की
हर पल श्याम है दिखता
तड़पता है ये दिल मेरा
मुझे जब श्याम नहीं मिलता

श्याम की कृपा से दुनिया में,
श्याम का गुणगान गाते रहते हैं

खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं
झोली सबकी भरते मेरे बाबा जी
सबके संकट पल भर में हर जाते हैं

खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं
खाटू जी में बाबा जी को देखकर
देखकर ही देखते रह जाते हैं
देखकर ही देखते रह जाते हैं
रह जाते हैं
रह जाते हैं

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Lyrics

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekh Kar Lyrics in English

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain

Jholi Sabaki Bharate Mere Baba Ji
Sabake Sankat Pal Bhar Mein Har Jate Hain

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain

Kabhi Jo Khvab Dekha To,
Mile Babaji Mujhako To
Mujhe Darshan Ki Khvahish Thi,
Mile Darshan Bhi Mujhako To

Har Taraph Khushiyan Hi Khushiyan Hain,
Shyam Baba Ke Dar Pe ane Se

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain.

Mere Halat Aise Hain Ki
Har Pal Shyam Hai Dikhata
Tadapata Hai Ye Dil Mera
Mujhe Jab Shyam Nahin Milata

Shyam Ki Krpa Se Duniya Mein
Shyam Ka Gunagan Gate Rehate Hain

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain
Jholi Sabaki Bharate Mere Baba Ji
Sabake Sankat Pal Bhar Mein Har Jate Hain

Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain
Khatu Ji Mein Baba Ji Ko Dekhakar
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain
Dekhakar Hi Dekhate Reh Jate Hain
Reh Jate Hain
Reh Jate Hain