Maahi Ve Lyrics – Acoustics (हिंदी & English) – Neha Kakkar

Maahi Ve Lyrics: Maahi Ve (Acoustics) is Hindi Song sung by Neha Kakkar. Maahi Ve music composed by Gourov Roshin. Maahi Ve Lyrics written by Kumaar.

Maahi Ve Song Credits

Song: Maahi Ve
Singers: Neha Kakkar
Music: Gourov Roshin
Lyrics: Kumaar
Label: T-Series
Genre: Hindi Songs

Maahi Ve Lyrics

Maahi Ve Lyrics in Hindi

आ…..

तुझे चाहा रब से भी ज्यादा
तुझे चाहा रब से भी ज्यादा
फिर भी न तुझे पा सके
रहे तेरे दिल में मगर
तेरी धड़कन तक ना जा सके

जुडके भी टूटी इश्के दी डोर वे
किसको सुनाये जाके टूटे दिल का शोर वे

माहि वे महाब्बता सचियाँ ने
मंगदा नसीबा कुझ होर ऐ
ओ माहि वे महाब्बता सचियाँ ने
मंगदा नसीबा कुझ होर ऐ

किस्मत दे मारे असी की करिए
किस्मत दे मारे असी की करिए
किस्मत दे मारे हो असी की करिए
किस्मत ते किसदा जोर ऐ
माहि वे
माहि वे

दर्द भरा दिल में इतना के
रोने को दिल करदा
तेरे बिना बेजान सा अब तो
होने को दिल करदा

वक़्त का करम है के तू
बैठा है मेरे रूबरू
है इश्क कितना तुझसे
लफ़्ज़ो में कैसे मैं कहू

इक नज़र तू देख ले बस मेरी ओर वे
किसको सुनाये जाके टूटे दिल का शोर वे

माहि वे महाब्बता सचियाँ ने
मंगदा नसीबा कुझ होर ऐ
ओ माहि वे महाब्बता सचियाँ ने
मंगदा नसीबा कुझ होर ऐ

किस्मत दे मारे असी की करिए
किस्मत दे मारे असी की करिए
किस्मत दे मारे हो असी की करिए
किस्मत ते किसदा जोर ऐ
माहि वे
माहि वे

तुझको बना कर ज़िन्दगी
मैंने तो हर पल सांस ली
तू फासलो पे है तो
दूर दिल से धड़कन है कही

ना रहे तन्हाइयों का जो दौर है
किसको सुनाये जाके टूटे दिल का शोर वे

माहि वे महाब्बता सचियाँ ने
मंगदा नसीबा कुझ होर ऐ
ओ माहि वे महाब्बता सचियाँ ने
मंगदा नसीबा कुझ होर ऐ

किस्मत दे मारे असी की करिए
किस्मत दे मारे असी की करिए
किस्मत दे मारे हो असी की करिए
किस्मत ते किसदा जोर ऐ
माहि वे
माहि वे

Maahi Ve Lyrics in Hindi
Maahi Ve Lyrics in Hindi

Maahi Ve Lyrics in English

Aa…

Tujhe chaha Rab se bhi zyada
Tujhe chaha Rab se bhi zyada
Phir bhi na tujhe pa sake
Rahe tere dil mein magar
Teri dhadkan tak na jaa sake

Judke bhi tooti rahi ishqe di dor ve
Kisko sunaye jaake toote dil ka shor ve

Maahi ve mohabbatan sachiyan ne
Mangda naseeba kujh hor ae
O maahi ve mohabbatan sachiyan ne
Mangda naseeba kujh hor ae

Kismat de maare asi ki kariye
Kismat de maare asi ki kariye
Kismat de maare ho asi ki kariye
Kismat te kisda zor ae
Maahi ve… maahi ve…
Maahi ve… maahi ve…

Waqt ka karam hai ke tu
Baitha hai mere rubaroo
Hai ishq kitna tujhse
Lafzon mein kaise main kahun

Ik nazar tu dekh le bas meri or ve
Kisko sunaye jaake toote dil ka shor ve

Maahi ve innaytan sachiyan ne
Mangda naseeba kujh hor ae
O maahi ve mohabbatan sachiyan ne
Mangda naseeba kujh hor ae

Kismat de maare asi ki kariye
Kismat de maare asi ki kariye
Kismat de maare ho asi ki kariye
Kismat te kisda zor ae
Maahi ve… Maahi ve..
Maahi ve… Maahi ve..
Maahi ve.. ho.. Maahi ve..
Mangda naseeba kujh hor hai